Best Places to Visit In Nenital || Tourist Places in Nenital District

खूबसूरती | एक ऐसी चीज़ हे जो कही पे भी हो चाहे किसी जगह पर हो या किसी इंसान मे हो लोग उसकी और आकर्षित हो ही जाते है जहा पर खूबसूरत जगह की बात आती हे तो हर इंसान ऐसी जगह पर घूमने जाना चाहता  है | तो चलिए आज हम आपको ऐसी ही एक खूबसूरत और मनभावक जगह पर ले चलते है | 

Nainital The City of Lakes


Nenital भारत के उत्तराखण्ड राज्य में स्थित एक खूबसूरत शहर है जो भारत का एक बहुत ही प्रसीद पर्यटन शहर भी है। देश के प्रमुख क्षेत्रों में नैनीताल की गणना होती है। 'नैनी' शब्द का अर्थ है आँखें और 'ताल' का अर्थ है झील। इसलिए इस जगह का नाम नैनीताल कर दिया गया | यह पूरी जगह झीलों से घिरी हुई है। इसलिए इसे भारत का "झीलों का शहर" भी कहते है | 

Safferindia.com
Nenital City

यह स्‍थान बर्फ़ से ढ़के पहाड़ों के बीच और झीलों से घिरा हुआ है। इनमें से सबसे प्रमुख झील नैनी झील है जिसके नाम पर इस जगह का नाम नैनीताल पड़ा है। नैनीताल में आप कही पर भी चले जाईये हर जगह पर ये आपको  बेहद ख़ूबसूरत नजर आएगा| 

Nenital वहा आने वाले पर्यटकों के लिए स्वर्ग माना जाता है ऐसा माना जाता है कि ब्रिटिश व्यापारी, पी. बैरून ने 1839 में, नैनीताल की सम्मोहित कर देने वाली खूबसूरती से प्रभावित होकर ब्रिटिश कॉलोनी स्थापित की | जिसने नैनीताल को और लोकप्रिय बना दिया।

Nainital Name History


भारत एक देश है जहा हर जगह या हर पुरानी ईमारत के पीछे कोई कहानी या उसका रहस्य जरूर होता है| नैनीताल के पीछे की भी एक कहानी है ऐसा माना जाता है की एक बार तीन संत जिनके नाम अत्री, पुलस्त्य और पुलाह थे, वे भ्रमण करते हुई कही जा रहे थे| 

तभी उन्हें प्यास लगी और वे अपनी प्यास मिटाने के लिए नैनीताल में रुके थे पर उन्हें कहीं भी पानी नहीं मिला तो उन्होंने एक गड्ढा खोदा और अपने साथ में लाये मानसरोवर झील के जल से इस गड्ढे को भर दिया। तब से उस जगह पर यह ‘नैनीताल’ नमक प्रसिद्ध झील बन गयी। एक अन्य कथा में यह कहा गया है कि भगवान शिव की पत्नी देवी माता सती की बाईं आंख इस जगह पर गिर गई थी जिससे इस आँख के आकार की नैनी झील का निर्माण हुआ। 

Best Palace To Visit in Nenital 


अगर आप एक शांत और खूबसूरत वातावरण में घूमना पसंद करते है तो नैनीताल आपके लिए बेस्ट जगह है|
हम आपको नैनीताल की सबसे आकर्षित और खूबसूरत जगहो के बारे में बता रहे है अगर आप नैनीताल घूमने का प्लान बना रहे है तो इन जगह पर जरूर जाईयेगा| 

  • Naina Devi Mandir -

नैना देवी मंदिर नैनी झील के उतरी किनारे पर स्थित है। नैना देवी हिंदूओं के पवित्र तीर्थ स्थलों में से एक है।1880 में एक भूकंप के बाद से यह मंदिर नष्‍ट हो गया था। बाद में इसे दुबारा से बनाया गया था | इस मंदिर में दो नेत्र हैं जो नैना देवी को दर्शाते हैं|

नैनी झील के बारें में माना जाता है कि जब भगवान् शिव माता सती की मृत देह को लेकर कैलाश पर्वत के लिए जा रहे थे, तब जहां-जहां पर माता सती के शरीर के अंग गिरे वहां-वहां शक्तिपीठों की स्‍थापना हुई। नैनी झील के स्‍थान पर देवी सती के नेत्र गिरे थे। इसी से प्रेरित होकर इस मंदिर की स्‍थापना की गई है।

यह समुद्र तल से 1100 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। मंदिर तक पर्यटक अपने निजी वाहनो से भी जा सकते है। पहले मंदिर तक पहुंचने के लिए 1.25 कि॰मी॰ की पैदल यात्रा कि जाती थी परन्तु अब मंदिर प्रशासन द्वारा मंदिर तक पहुंचने के लिए उड़्डनखटोले, पालकी आदि की भी व्यवस्था की हुई है।

  • Snow View Point

नैनीताल शहर से लगभग 2.5 km की दुरी पर स्नो व्यू प्वाइंट स्थित है स्नो व्यू समुद्र तल से 2270 km की उचाई पर स्थित एक लोकप्रिय पर्यटक स्थल है पर्यटक यहाँ पर रोप वे या किराये के वाहन के द्वारा भी जा सकते है यहाँ से हिमालय पर्वतमाला की खूबसूरत और मनमोहक कर देने वाले नजरों का भी लुफ्त उठाया जा सकता है स्नो व्यू से सबसे अच्छा दृश्य अक्टूबर और नवंबर में देखने को मिलता है जब पूरा क्षेत्र  बर्फ से ढक जाता है

  • Eco Cave Garden

इको केव गार्डन नैनीताल से 3.7 किलोमीटर की दुरी पर स्थित है । आप यहाँ तक कोई गाड़ी किराये कर या खुद की गारी से भी यहां तक पहुंच सकते हैं।इको केव गार्डन में पहुंचकर अडवेंचर पसंद करने वालों को काफी मजा आएगा। नैनीताल के फेमस मॉल रोड के पास स्थित यह गार्डन कई गुफाओं का इंटरकनेक्टेड नेटवर्क है। 

साथ ही इसके अंदर एक म्यूजिकल फाउंटेन भी हैजो शाम के दौरान देखने में और भी खूबसूरत लगता है  यहाँ गुफाओं का एक चेन है लिहाजा अंदर आपको तरह-तरह की वरायटी वाले पहाड़ और पत्थर मिलेंगे जिन्हें देखते वक्त आप इस बात का अंदाजा लगा सकते हैं कि आखिर ये पहाड़ इस तरह से कैसे बने होंगे।

इन गुफाओ  के अंदर मौजूद कुछ जगहें तो इतनी छोटी हैं कि आपको रेंग कर जाना पड़ेगा। इन गुफाओं की इस चेन के अंदर कुल 6 गुफाएं हैं जो 6 अलग-अलग जानवरों के नाम पर हैं क्योंकि उन गुफाओं का स्ट्रक्चर उन जानवरों की आकृति से मिलता जुलता है।

  • Tifin Top

टिफिन टॉप नैनीताल से लगभग 4 कि.मी की ऊंचाई पर एक पहाड़ी स्थित है, इसे ''डोरोथी की सीट'' के नाम से भी जाना जाता है। अगर आप सुकून और शांति भरा वातावरण चाहते हे तो यहाँ जरूर आईये| कुछ लोग इस जगह पर पैदल पहुंचते हैं तो कुछ  घुड सवारी के माध्यम से यहां जाते हैं। 

कुछ लोगों तो इतनी ऊंचाई से नीचे देखने में बहुत डर लगता है लेकिन वहीं अगर आप एडवेंचर के शौकीनों में से एक है तो आपको ये जगह बहुत पसंद आएगी | 

जब भी आप  नैनीताल घूमने के लिए आते हैं तो वे इस पहाड़ी पर जरूर आना । यहां आपको प्राकृतिक सौंदर्य आ अनूठा रूप देखने को मिलता है।

  • Naini Lake

खूबसूरत नैनी झील नैनीताल के दिल में बसी है नैनी झील में आसपास के सारे पहाड़ों का रिफ्लेक्शन पड़ता है जिससे इसका पानी बिल्कुल हरा दिखता है और यह दृश्य काफी मनभावन लगता है। इस सुंदर झील में नौकायन का आनंद लेने के लिए लाखों पर्यटक दूर दूर से यहाँ आते हैं।

इस झील के पानी में आसपास के पहाड़ों का प्रतिबिंब दिखाई पड़ता है। और रात के समय जब चारों ओर बल्बों की रोशनी होती है तब तो इसकी सुंदरता और भी बढ़ जाती है| नदी के उत्तरी छोर पर नैना देवी मंदिर है। इस झील के बारे में ऐसी मान्यता हे की यहाँ डुबकी लगाने से उतना ही पुण्य मिलता है जितना मानसरोवर नदी में नहाने से मिलता है।  


Post a Comment

0 Comments